ADVERTISEMENT

'पाकिस्तान को संकट से उबारने के लिए चाहिए मोदी जैसा नेता', जानें किसने कहा

पाकिस्तान के सत्तारूढ़ प्रतिष्ठान से जुड़े साजिद तरार ने कहा कि पाकिस्तान में लोग मोदी से प्यार करते हैं। हमें भी मोदी जैसे ही किसी व्यक्ति की जरूरत है जो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को संकट से उबार जा सके।

साजिद तरार 1990 के दशक में पाकिस्तान से अमेरिका आकर बस गए थे। / X @sajidtarar

बाल्टीमोर में रहने वाले पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी कारोबारी साजिद तरार ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जमकर तारीफ की है। उन्होंने दुनिया में भारत का नाम रोशन करने का श्रेय पीएम मोदी को दिया है। उन्होंने तो यहां तक कहा है कि पाकिस्तान को आर्थिक संकट से उबारने के लिए मोदी जैसे नेता की ही जरूरत है।

साजिद तरार ने न्यू इंडिया अब्रॉड को दिए इंटरव्यू में लोकसभा चुनाव का जिक्र करते हुए कहा कि भारत में 97 करोड़ लोग अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। यह किसी चमत्कार से कम नहीं है। भारत सबसे बड़ा लोकतंत्र है। मैं वहां प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता देख रहा हूं। 2024 में भारत का उदय अद्भुत है। यह एक बताने लायक कहानी है। आप देखेंगे कि भविष्य में लोग भारतीय लोकतंत्र से सीख लेंगे।

1990 के दशक में अमेरिका आकर बस गए साजिद कहते हैं कि भारत के कई लोग गूगल, माइक्रोसॉफ्ट और विश्व बैंक जैसी कंपनियों के अगुआ बन गए हैं, लेकिन उसके बाद भी प्रवासी भारतीयों की अपने देश के लिए वही भावनाएं हैं। भारत की तरक्की की एक वजह ये भी है। 

पाकिस्तान के सत्तारूढ़ प्रतिष्ठान के सदस्यों से अच्छी तरह जुड़े तरार ने पाकिस्तान के आर्थिक संकट का जिक्र करते हुए कहा कि हमें मोदी जैसे ही किसी व्यक्ति की जरूरत है जो पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को संकट से उबार जा सके। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान में बहुत से लोग मोदी से प्यार करते हैं। भारत के विकास की कहानी दुनिया भर में लोगों को हैरान कर रही है।

साजिद तरार ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में हालिया तनाव पर भी टिप्पणी करते हुए कहा कि पीओके में विरोध प्रदर्शन की मुख्य वजह बिजली के दामों में वृद्धि है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान आर्थिक संकट से गुजर रहा है। महंगाई बहुत अधिक है। बिजली के दाम बढ़ गए हैं। पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे हैं। आईएमएफ टैक्स बढ़ाना चाहता है। हम निर्यात करने में सक्षम नहीं हैं। 

पाकिस्तानी-अमेरिकी कारोबारी तरार ने कहा कि पाकिस्तान आर्थिक संकट से गुजर रहा है, लेकिन उसके पास पैसा कहां से आएगा?  सरकार आईएमएफ से नए आर्थिक पैकेज के लिए बात कर रही है। अफसोस की बात है कि जमीनी मुद्दों को हल करने का कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है। निर्यात कैसे बढ़ाया जाए, आतंकवाद पर कैसे काबू किया जाए और कानून व्यवस्था में सुधार कैसे लाया जाए, इन पर कोई बात नहीं हो रही है।
 

Comments

ADVERTISEMENT

 

 

ADVERTISEMENT

 

 

E Paper

 

Related