ADVERTISEMENT

टाटा संस के सूर्य का USISPF बोर्ड में शामिल होना भारत-US संबंधों के लिए इसलिए है अहम

सूर्य कांत ने भारतीय आईटी उद्योग और टाटा समूह की प्रमुख आईटी और परामर्श सेवा कंपनी, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के विकास में भी उल्लेखनीय योगदान दिया है। उन्होंने अमेरिका, जापान, यूके और उत्तरी भारत सहित विभिन्न वैश्विक कार्यालयों में संचालन का नेतृत्व किया है।

अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी फोरम अमेरिका और भारत के बीच सबसे प्रभावशाली साझेदारी बनाने के लिए समर्पित है। / Courtesy Photo

अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी फोरम (USISPF) ने टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड के सीनियर सलाहकार सूर्य कांत को अपने बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में शामिल किया है। 40 साल तक काम का अनुभव रखने वाले उद्योगपति सूर्य कांत टाटा संस प्राइवेट लिमिटेड में अपनी भूमिका में संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच कई महत्वपूर्ण पहलों का नेतृत्व करते हैं। वह टाटा समूह की कई कंपनियों को अमेरिका में उनकी व्यावसायिक रणनीतियों पर सलाह देते हैं, उनके विस्तार और नए अवसरों की खोज में मदद करते हैं।

सूर्य कांत ने टाटा संस का प्रतिनिधित्व अमेरिका-भारत क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नोलॉजीज (iCET) पहल के लॉन्च में किया। यह एक महत्वपूर्ण द्विपक्षीय पहल है जिस पर अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने हाल ही में नई दिल्ली की अपनी यात्रा के दौरान रोशनी डाली थी। विशेष रूप से कांत ने भारतीय आईटी उद्योग और टाटा समूह की प्रमुख आईटी और परामर्श सेवा कंपनी, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के विकास में भी उल्लेखनीय योगदान दिया है। उन्होंने अमेरिका, जापान, यूके और उत्तरी भारत सहित विभिन्न वैश्विक कार्यालयों में संचालन का नेतृत्व किया है।

उनके नेतृत्व में टीसीएस उत्तरी अमेरिका का सालाना रेवन्यू 1 बिलियन डॉलर से बढ़कर 13 बिलियन डॉलर हो गया। इसके अलावा उन्होंने दुनिया के सबसे बड़े मैराथन 'न्यूयॉर्क सिटी मैराथन' के शीर्ष प्रायोजक के रूप में टीसीएस का नेतृत्व किया। अपनी नियुक्ति पर टिप्पणी करते हुए कांत ने कहा, 'भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका के बीच संबंध मजबूत से मजबूत होते गए हैं। द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के लिए USISPF के प्रयास महत्वपूर्ण हैं और मैं अन्य बोर्ड सदस्यों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हूं। हम इस अनूठी साझेदारी की पूरी क्षमता को साकार करने के लिए और भी ऊंचा लक्ष्य रखते हैं।'

कांत का बोर्ड में स्वागत करते हुए USISPF के अध्यक्ष और सीईओ डॉ. मुकेश अघी ने कहा, 'मुझे USISPF के निदेशक मंडल में सूर्य का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। USISPF की बढ़ोतरी वॉशिंगटन और नई दिल्ली के बीच बढ़ती रणनीतिक साझेदारी से प्रदर्शित होती है। सूर्य का नेतृत्व रणनीतिक साझेदारी की रूपरेखा को आगे बढ़ाने और मार्गदर्शन करने में मदद करेगा।'

अघी ने कहा कि सूर्य तकनीक, स्टार्टअप्स और STEM शिक्षा के बदलते स्वरूप को समझते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि उनके इनपुट और विशेषज्ञता के साथ हम संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच सहयोग के नए रास्ते और गहरे क्षेत्रों का पता लगाएंगे।

अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी फोरम (USISPF) संयुक्त राज्य अमेरिका और भारत के बीच सबसे प्रभावशाली साझेदारी बनाने के लिए समर्पित है। वॉशिंगटन डीसी और नई दिल्ली में अमेरिका-भारत संबंध को बढ़ाने पर केंद्रित एकमात्र स्वतंत्र, गैर-लाभकारी संस्थान के रूप में USISPF दोनों देशों के व्यवसायों, गैर-लाभकारी संगठनों, प्रवासी और सरकारों के लिए एक विश्वसनीय भागीदार के रूप में काम करता है।

Comments

ADVERTISEMENT

 

 

 

ADVERTISEMENT

 

 

E Paper

 

 

 

Video

 

Related