ADVERTISEMENT

माता-पिता अमेरिका से बेटे से पढ़ाई पूरी कर लौटने की प्रतीक्षा कर रहे थे, आई मौत की खबर

अविनाश 18 महीने पहले अमेरिका आए थे। उनका एमएस कोर्स खत्म होने वाला था। तेलंगाना के चित्याला गांव में रहने वाले माता-पिता श्रीनिवास राव और सिरिशा अपने बेटे के जल्द ही वापस आने की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन पिता को अमेरिकी अधिकारियों से मौत की खबर मिली।

छात्र का नाम साई सूर्या अविनाश गड्डे था। न्यूयॉर्क के अल्बानी में बार्बरविले फॉल्स में पैर फिसलने से उनकी डूबकर मौत हो गई। / Unsplash

अमेरिका में पढ़ाई करने गए 24 साल के भारतीय छात्र की मौत की घटना सामने आई है। छात्र का नाम साई सूर्या अविनाश गड्डे था। न्यूयॉर्क के अल्बानी में बार्बरविले फॉल्स में पैर फिसलने से उनकी डूबकर मौत हो गई। अविनाश अमेरिका में ट्राइन यूनिवर्सिटी के छात्र थे। वह एमएस की पढ़ाई कर रहे थे। तीन दिन की छुट्टियां मिलने पर वह अपने रिश्तेदार के घर गए थे, जहां से वह 7 जुलाई को इस लोकप्रिय पर्यटन स्थल पर गए थे। उनका शव उसी दिन बरामद कर लिया गया।

बताया गया है कि अविनाश 18 महीने पहले अमेरिका आए थे। उनका एमएस कोर्स खत्म होने वाला था। तेलंगाना के चित्याला गांव में रहने वाले माता-पिता श्रीनिवास राव और सिरिशा अपने बेटे के जल्द ही वापस आने की उम्मीद कर रहे थे। लेकिन अविनाश के पिता श्रीनिवास राव को अमेरिकी अधिकारियों से अविनाश की मौत की खबर मिली। उनकी मौत की खबर सुनकर उन्हें गहरा सदमा लगा है। गांव के लोग भी अपने होनहार नौजवान छात्र की मौत से दुखी हैं।

न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने इस खबर की पुष्टि की और अपनी संवेदना व्यक्त की। दूतावास ने कहा, 'हम ट्राइन यूनिवर्सिटी के छात्र साई सूर्या अविनाश गड्डे की दुखद मौत से बहुत दुखी हैं, जिनकी 7 जुलाई को न्यूयॉर्क के अल्बानी के बार्बरविले फॉल्स में डूबने से मौत हो गई। हम उनके शोक संतप्त परिवार और मित्रों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करते हैं।' भारतीय वाणिज्य दूतावास अविनाश के परिवार को आवश्यक सहायता प्रदान कर रहा है, जिसमें उनके अवशेषों को भारत वापस ले जाने के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) जारी करना भी शामिल है।

स्थानीय मीडिया ने रेनसेलर काउंटी शेरिफ के कार्यालय का हवाला देते हुए बताया कि दो पुरुष तैराकी करते समय मुसीबत में पड़ गए, जिसके बाद कई दल बचाव के लिए आए। रिपोर्ट के अनुसार, एक शख्स को बचा लिया गया, लेकिन अविनाश की मौत हो चुकी थी। राज्य डाइव टीम सहित स्थानीय अधिकारी इस घटना की परिस्थितियों की जांच कर रहे हैं।

तेलुगु एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका (TANA) ने इस घटना पर शोक व्यक्त किया है। अविनाश की मौत संयुक्त राज्य अमेरिका में भारतीय छात्रों के बीच असामयिक मौतों के एक परेशान करने वाले चलन का हिस्सा है। इन घटनाओं के जवाब में न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने अमेरिका में पढ़ रहे भारतीय छात्रों का समर्थन करने के लिए एक नई पहल शुरू की है।

Comments

ADVERTISEMENT

 

 

 

ADVERTISEMENT

 

 

E Paper

 

 

 

Video

 

Related