ADVERTISEMENT

अबू धाबी में डेस्टिनेशन वेडिंग करना और भी आसान, सरकार ने शुरू की नई सुविधा

यूएई की हाल ही में घोषित नई वीज़ा नीति में अबू धाबी में पर्यटकों की संख्या बढ़ाने पर खासा जोर दिया गया है। सरकार की कोशिश साल 2030 तक आगंतुकों की संख्या को 39.3 मिलियन तक बढ़ाना है।

सरकार का उद्देश्य अबू धाबी को प्रमुख वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में स्थापित करना है। / image : unsplash

अबू धाबी में डेस्टिनेशन वेडिंग करने वाले भारतीयों के लिए अच्छी खबर है। यूएई सरकार ने अमीरात में शादियां करने वाले भारतीय नागरिकों को वीजा सपोर्ट देने की योजना का ऐलान किया है। 

यूएई की राजधानी अबू धाबी को एक प्रमुख वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में स्थापित करने के लिए अबू धाबी के कन्वेंशन एंड एक्जीबिशन ब्यूरो (एडीसीईबी) की तरफ से ये ऐलान किया गया है। एडीसीईबी अबू धाबी के संस्कृति एवं पर्यटन विभाग का हिस्सा है

यूएई की हाल ही में घोषित नई वीज़ा नीति में अबू धाबी में पर्यटकों की संख्या बढ़ाने पर खासा जोर दिया गया है। सरकार की कोशिश साल 2030 तक आगंतुकों की संख्या को 39.3 मिलियन तक बढ़ाना है।

एडीसीईबी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि घरेलू एवं अंतरराष्ट्रीय मेहमानों को आकर्षित करने और 2030 की रणनीति के अनुरूप एडीसीईबी में डेस्टिनेशन वेडिंग सेगमेंट को शामिल किया गया है। यह एडीसीईबी में शामिल सबसे नए वर्टिकल में से एक है। इसका उद्देश्य जीडीपी में क्षेत्र के योगदान को 90 अरब एईडी (अमीराती दिरहम) तक बढ़ाना है। 

भारत दुनिया भर में डेस्टिनेशन वेडिंग के सबसे बड़े बाजारों में से एक है। अब अबू धाबी में भारतीय शादियों के लिए वीजा सपोर्ट प्रदान करके एडीसीईबी अपनी पहचान बनाने का प्रयास कर रहा है। 

बयान में कहा गया है कि इससे न सिर्फ अमीरात की अनूठी संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा बल्कि विदेशियों को यहां के प्राकृतिक नजारों के बीच अपनी जिंदगी की नई शुरुआत करने का अवसर प्राप्त होगा। इन शादियों से आतिथ्य क्षेत्र, ट्रांसपोर्ट, होटल, वेडिंग प्लानर, फोटोग्राफी, खानपान, व्यक्तिगत से जुडे लोगों को नए अवसर भी मिलेंगे। 

Comments

ADVERTISEMENT

 

 

ADVERTISEMENT

 

 

E Paper

 

Related